करवा चौथ 2022: करवा चौथ कल, जानिए शुभ मुहूर्त, स्तुति विधि और मिनट में होगा क्षेत्र में चंद्र दर्शन

करवा चौथ 2022 शुभ मुहूर्त पूजा विधि व्रत कथा हिंदी में:- 13 अक्टूबर से 14 अक्टूबर गुरुवार को करवा चौथ है।

यह सुबह निस्संदेह गुरुवार की रात होगी और साथ ही बृहस्पति जो सबसे शुभ परिणाम प्रदान करता है, अधिकांश एक्सोप्लैनेट एक अद्वितीय राशि के लिए रहेगा।

राशिफल के जानकारों के मुताबिक 46 साल बाद जल्द ही एक बेहद संयोग बन रहा है।

करवा चौथ 2022 विशेष तिथि समय शुभ मुहूर्त पूजा विधि: अगले साल गुरुवार की रात, 13 अक्टूबर, जोड़े के बीच सांप्रदायिक प्रेम और भक्ति का वास्तव में महान त्योहार करवा चौथ है।

इसका क्या मतलब है करवा चौथ का त्योहार और यह है अगले दिन कुछ निर्जला व्रत रखना या कुछ न खाना। मंगेतर महिलाएं रात में चंद्रमा को पाकर व्रत तोड़ती हैं

दिन भर सादा रहकर अपने पति की लंबी उम्र, सुखी जीवन, सुख-समृद्धि की कामना करती हैं। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, करवा चौथ का त्योहार हर साल कार्तिक के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को कुछ हफ्तों के लिए जाना जाता है।

यह नवविवाहितों के हनीमून पर सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है। ज्यादातर विवाहित प्रेमियों के लिए करवा चौथ का इंतजार साल भर रहता है।

जिसके लिए महिलाएं इस दिन में 16 मेकअप करती हैं और दिन भर में पानी पीती हैं। रात के समय माता करवा की पूजा और कथा सुनती हैं,

फिर रात्रि में चन्द्रमा के उदय होने पर पति के हाथ से जल पीने के लिए व्रत को तोड़ देती हैं। आइए जानते हैं

करवा चौथ से शीघ्र ही महत्व, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और साथ ही चंद्रमा के विदा होने के क्षण के बारे में सब कुछ।